नई दर्शन व्यवस्था के साथ शीशे में होंगे श्याम दर्शन, Shyam Darshan will be in mirror with new darshan system

Shyam Darshan will be in mirror with new darshan system

26 जनवरी से बाबा श्याम का मंदिर खुलने की जो संभावना बन रही थी वो अब नहीं है क्योंकि अभी भी मंदिर के विकास और विस्तार से संबंधित कार्य पूरे नहीं हुए हैं.

बताया जा रहा है कि प्रशासनिक स्तर पर होने वाले कार्य लगभग पूरे हो गए हैं लेकिन मंदिर परिसर मे कमेटी के स्तर पर होने वाले कुछ काम अभी बाकी हैं.

इन कामों के पूरे होने के बाद मंदिर को खोलने की तारीख पर विचार किया जाएगा. फरवरी के पहले सप्ताह मे मंदिर के पट आम श्रद्धालुओं के लिए खुलने की उम्मीद जताई जा रही है.

गौरतलब है कि 22 फ़रवरी से बाबा श्याम का लक्खी मेला शुरू होने वाला है, जिसे लेकर भी तैयारियाँ जोर शोर से जारी है.

मंदिर मे बाबा के दर्शनों के लिए एक बदलाव किया जा रहा है. मंदिर के गर्भगृह के दरवाजे पर एक पारदर्शी शीशा लगाया जा रहा है. श्रद्धालुओं को अब इस शीशे के बाहर से बाबा के दर्शन करने होंगे.

जैसा कि आपको पता ही है कि श्री श्याम मंदिर कमेटी ने 13 नवंबर को मंदिर के पट आम श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए थे और मंदिर मे रिनोवशन के कार्य तभी से जारी हैं.

नई दर्शन व्यवस्था के अनुसार अब दर्शनों के लिए आने वाले भक्त लखदातार मैदान मे आठ लाइनों मे आएंगे. इसके बाद 75 फीट मेला ग्राउन्ड मे 14 लाइनों मे बँटकर सीधा मंदिर के अंदर प्रवेश करेंगे. प्रवेश के लिए नया रास्ता तिलकिया कोठी से निकलेगा.

इन लाइनों मे 10 लाइनें दर्शनों के बाद सीधे निकास मार्ग पर निकलेगी. सिंह द्वार से आने वाली बाकी 4 लाइनों मे 2 लाइन गोपीनाथ मंदिर की तरफ से और दो लाइन सिंह पोल हनुमान मंदिर की तरफ से बाहर निकलेगी.

Source - Dainik Bhaskar, Sikar Edition, 24 January 2023