khatu lakkhi mela will start from 6 march, khatu lakkhi mela date, khatu mela date, khatu mela status, khatu shyam lakkhi mela date, khatu mela month, khatu mela kab hoga

khatu lakkhi mela will start from 6 march

6 मार्च से 15 मार्च तक लगेगा मेला


सीकर 10 फरवरी। जिले के प्रसिद्ध लोक देवता बाबा श्याम के लक्खी मेेले को लेकर गुरूवार को जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी व एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने संबंधित विभागों के अधिकारियों की मेेला मजिस्टे्रट कार्यालय मे¬ बैठक आयोजित कर व्यवस्थाओं के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

जिला कलेक्टर ने कहा कि पूर्व की तरह मेले की समस्त व्यवस्थाएं करना सुनिश्चित करें। बैठक में मौजूद विभागों के अधिकारियों को उनके जिम्मेे समस्त कार्य की प्रगति रिपोर्ट मेेले से पूर्व करने के निर्देश दिये। जिला कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने सभी विभागों के अधिकारियों से बिन्दुवार जानकारी प्राप्त की।

जिला कलेक्टर चतुर्वेदी ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को मण्डा  से खाटू, रींगस से खाटू, दांता से खाटू व अन्य जगहों पर सड़कों के पेचवर्क आदि का कार्य 7 दिवस में पूर्ण करने के निर्देश दिये।

मेले में आने के दौरान श्रद्धालु के पास डबल डोज वेक्सिनेशन र्सटिफिकेट तथा दूसरे राज्यों से आने वाले श्रृदालुओं के पास डबल डोज वेक्सिनेशन र्सटिफिकेट तथा आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा ।

उन्होंने जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियन्ता को मेले के दौरान यात्रियों के लिए पेयजल, खराब पडे हैडपम्पों को दुरूस्त कर पेयजल व्यवस्था उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होंने मंदिर में यात्रियों के आवागमन के लिए पीडब्ल्यूडी को बैरीकेडिंग की व्यवस्था करने तथा सड़क के दोनों और कंटीली झाड़ियों की कटाई करवाने, विद्युत विभाग के अधिकारी को  मेले के दौरान विद्युत की आपूर्ति सुचारू रखने,रोड़वेज को श्रृदालुओं के आवागमन के लिए बसों का रूट चार्ट, समय सारणी तैयार कर इसका व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार करने, नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के निर्देश दिये।

उन्होंने कहा कि मेले में नजरी  नक्शे का डिसप्ले खाटू में प्रमुख स्थानों पर होर्डिग्ंस लगाकर किया जाए, मेला क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री की रोकथाम, आवारा पशुओं की धर पकड़ की जाए। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान पार्किंग की निःशुल्क व्यवस्था होगी, ध्वनि प्रदूषण पर पूर्णतया प्रतिबन्ध रहेगा।

Corona protocol is mandatory for devotees


जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने बताया कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को आवश्यक रूप से कोरोना प्रोटोकॉल्स का पालन करना होगा। जो श्रद्धालु मेले के दौरान धर्मशाला और होटलों में रुकेंगे उनके पास  वैक्सीन की डबल डोज व आरटीपीसीआर रिपोर्ट होना अनिवार्य है।

इसकी पालना के लिए होटल और धर्मशाला संचालकों को भी पाबंद किया जाएगा। उन्होंने मंदिर कमेटी को निर्देशित किया कि वे श्रद्धालुओं की चैकिंग कर सुनिश्चित करेंगे कि मेले के दौरान कोरोना गाइडलाइंस की अवहेलना नहीं हो।

जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने बताया कि रींगस मार्ग से जो श्रद्धालु पैदल आते हैं उनकी रींगस मोड़ पर और कस्बे के मुख्य द्वार पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्थापित चैकिंग काउंटर्स पर वेक्सीन सर्टिफिकेट और आरटीपीसीआर रिपोर्ट की जांच की जाएगी।

उन्होंने बताया कि कोरोना के चलते इस बार भंडारों में खाने की वस्तुओं पर रोक रहेगी। इनमें पेयजल, छाछ, जूस जैसे पेय पदार्थ दिए जा सकेंगे जिससे पैदल आने वाले श्रद्धालुओं कोई समस्या नहीं हो । बैठक में निर्णय लिया गया कि मेले के दौरान श्याम कुंड स्नान, भजन संध्या, कीर्तन सहित ऎसे सभी आयोजनों पर रोक रहेगी।

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि पुलिस विभाग का प्रयास रहेगा कि मेले में जो भी श्रद्धालु दर्शन करने आए उन्हें शांति व सुरक्षा से दर्शन हो। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान होने वाली आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए भी पुलिस की अलग से टीम लगाई जाएगी। 8 चरणों में सुरक्षा के लिए तीन हजार सुरक्षा कर्मी तैनात किये जायेंगे।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मेले के दौरान कस्बे में कुछ क्षेत्रों में पाबंदियां रहती है। ऎसे में स्थानीय लोगों की आवाजाही के लिए उन्हें आई कार्ड दिखाना आवश्यक होता है। लेकिन कई बार क्षेत्र में आवाजाही को रोकने के लिए स्थानीय लोगों का आवागमन भी बंद रखा जाता है।

उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन का प्रयास रहेगा कि मेले के दौरान स्थानीय निवासियों को आवागमन में कोई परेशानी नहीं हो। इसके साथ ही मेले के दौरान यदि आवश्यकता पड़ती है तो जाप्ता बढ़ाया भी जा सकता है।

बैठक में श्याम मंदिर कमेटी के मंत्री प्रताप सिंह चौहान  ने बताया कि मेले में आने वाले श्रृद्धालुओं के लिये बिस्कुट, पानी के पाउच आदि की व्यवस्था की जायेगी, इसी प्रकार मोबाईल अस्थायी शौचालय स्थापित किये जायेंगे। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में  सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे।

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार, अतिरिक्त जिला कलेक्टर धारासिंह मीणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीमकाथाना रतन लाल भार्गव, उपखण्ड अधिकारी दांतारामगढ़ राजेश कुमार मीणा, खण्डेला राकेश कुमार, डीएसपी रींगस, जिला रसद अधिकारी राजपाल यादव, सहायक निदेशक प्रशासनिक सुधार विभाग राकेश लाटा, सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी, तहसीलदार दांतारामगढ़ विपुल चौधरी, पलसाना अविनाश चौधरी, विकास अधिकारी दुर्गा देवी ढाका, अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका विशाल यादव, संतोष शर्मा सहित जिला स्तरीय, ब्लॉक स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहें।